नक्सलियों का कांग्रेस और वामपंथियो से सम्बन्ध

0
46

वायनाड में नक्सली साजिश

मुंडक्कई, वायनाड लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र का एक हिस्सा, जहां से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी चुनाव लड़ रहे हैं। यहाँ मुस्लिम माओवादियों ने पोस्टर और बैनर लगाकर किसानों और बागान के कामगारों से  23 अप्रैल के चुनावों का बहिष्कार करने के लिए कहा।
वायनाड जिला पुलिस प्रमुख, आर करुप्प्पासामी ने कहा कि सोमवार की सुबह से ही मेपाडी पुलिस स्टेशन की सीमा के तहत मुंडक्कई शहर में कुछ स्थानों पर पोस्टर लगाए गए थे।

हिन्दू बहुल इलाका मुंडक्कई

वायनाड लोकसभा क्षेत्र का मुंडक्कई इलाका हिन्दू बहुल क्षेत्र है। पोस्टर चिपकाने वाला माओवादी संगठन एक मुस्लिम संगठन है। इस संगठन का लीडर मो. जलील 6 मार्च, 2019 को मुठभेड़ में मारा गया था। दरअसल वायनाड लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में हिन्दू सिर्फ इसी इलाके में अधिक संख्या में है। पुरे वायनाड लोकसभा क्षेत्र में हिन्दू मात्रा 31% है जबकि मुस्लिम और ईसाई मिलाकर 69% है। मुस्लिम आबादी लगभग 56% के करीब है।
वायनाड जिला पुलिस प्रमुख ने कहा है कि पुलिस ने सुरक्षा बढ़ा दी है और हमें अतिरिक्त अर्धसैनिक बल मिलेंगे। पहले से ही एक कंपनी जिले में तैनात है। उन्होंने कहा कि हम स्थिति पर नजर रख रहे हैं और जांच शुरू कर दी है।

कांग्रेस और मुस्लिम लीग की साजिश

वायनाड लोकसभा क्षेत्र वैसे तो कांग्रेस के लिये सुरक्षित क्षेत्र है। लेकिन आरोप है कि फिर भी राहुल गांधी की जीत सुनिश्चित करने के लिए माओवादियों ने यह धमकी दी है। दरअसल IUML, जो कि आज़ादी के पूर्व की मुस्लिम लीग का ही हिस्सा है और इस मुस्लिम माओवादी संगठन से उसके रिश्ते पहले भी सामने आये है। केवल हिन्दू बहुल इलाकों में वोट न करने की धमकी देना IUML को फायदा पहुंचाने के लिये किया गया है।

कांग्रेस और माओवादी संगठन

आरोप यह भी है कि कांग्रेस और वामपंथियो के माओवादी और नक्सलियों से सम्बन्ध है। आज ही छतीसगढ़ के दंतेवाड़ा में दिन दहाड़े माओवादियों ने बीजेपी नेता के काफिले पर हमला कर दिया । इस IED हमले में बीजेपी नेता समेत 6 कार्यकर्ता मारे गए। कुछ दिन पहले भी सेना के 12 जवानों को नक्सलियों ने छतीसगढ़ में शहीद कर दिया था। ध्यान रहे कि छतीसगढ़ और मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद नक्सली हमले बढ़ गए है।
सुरक्षा एजेंसियों का मानना है कि कांग्रेस और वामपंथी सरकारें नक्सलियों को मदद पहुँचा रहे है। जिसके चलते वे आसानी से आतंकी हमलों को अंजाम दे पा रहे है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here